झारखंड

कोरोना’ का डर ना प्रशासन का ख़ौप, सरकार के नसीहतों की उड़ रही खिल्ली

कोरोना' का डर ना प्रशासन का ख़ौप, सरकार के नसीहतों की उड़ रही खिल्ली

गोड्डा रिपोर्ट विद्यासागर चौबे

इन लोगों को ना तो केंद्र और राज्य सरकार के नसीहतों का असर है और ना ही ‘कोरोना’ जैसी संक्रमित खतरनाक बीमारी का डर और ना ही ये लोग प्रशासन का ख़ौप ही रखते है, अवैध कोयला निकलना इनका पेशा है वही अवैध ईंट भट्ठा संचालित करने वाले लोग गरीब लाचार और निरीह लोगों को जबरन काम करने को मजबूर बनाये हुए है।राजमहल परियोजना के ललमटिया नीमा लालघुटवा सिमड़ा जनकपुर तेलगामा फिल्ड और लोहंडिया में दर्जनों लोग एकसाथ सुरंग में प्रवेश कर कोयला निकालते है और बिहार के सैकड़ों लोग साइकिल और मोटरसाइकिल से कोयला लेने इन जगहों पर इकट्ठा होते है। सनद रहे कि देशभर में कोरोना का खतरनाक संक्रमण रोकने के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ाने रद्द कर दी गई हैं रेलवे ने ट्रेनों की आवाजाही बंद कर दी है ट्रांसपोर्टिंग बंद है राज्य की सीमाएं सील है स्कूल कॉलेज एस और कोचिंग सेंटर बंद है परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं, प्रधानमंत्री लगातार लोगों से अपने घरों में लक्ष्मण रेखा खींचकर रहने का नसीहत दे रहे हैं हाथों को लगातार साबुन से साफ करने अनावश्यक घर के बाहर नहीं निकलने पर भी बैन लगाने की बात करते हैं, लेकिन गांव में लोग इसका उपहास उड़ाते नजर आ रहे हैं। गश्त करती पुलिस की वाहन लगातार लोगों से अपील करते हुए घर के अंदर रहने को कह रही है लेकिन गोड्डा जिला अंतर्गत राजमहल परियोजना के इर्द-गिर्द ईसीएल के ठेकेदार मजदूरों को मजबूरन काम में लगाए हुए हैं ट्रैक्टर मालिक ट्रैक्टर में काम करने को मजदूरों को मजबूर बनाए किये हुए है ईसीएल के इर्द-गिर्द निजी मकानो का निर्माण बदस्तूर जारी हैं।अवैध ईंट भट्टों में दर्जनों की संख्या में महिलाएं और बच्चे काम कर रहे हैं, देशी शराब की भट्टियां पर शाम ढलते ही रौनक छा जा रही है। इन लोगों पर कोई अंकुश अब तक तो ना प्रशासन लगा पाई ना ही सरकारों को नसीहतो का असर हुआ है ऐसे में कोरोना के संक्रमण से लोग खुद को समाज और देश कैसे सुरक्षित रख पाएंगे ये चिंता का विषय बना हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close