jhakhand

JHARKHAND: त्रिस्तरीय पंचायतों ने खर्च कर दिए 1510 करोड़, तीन माह में खर्च करना होगा 803 करोड़

JHARKHAND: त्रिस्तरीय पंचायतों ने खर्च कर दिए 1510 करोड़, तीन माह में खर्च करना होगा 803 करोड़

Ranchi: त्रिस्तरीय पंचायतों ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के नौ माह में आवंटित बजट का 65 फीसदी खर्च कर दिया है. 15वें वित्त आयोग से राज्य के तीनों पंचायतों,ग्राम पंचायत,पंचायत समिति व जिला पंचायतों को 2313 करोड़ रुपये आवंटित किया गया था, जिसके विरूद्ध अब तक 1510 करोड़ की राशि खर्च कर दी गयी है.

पंचायती राज निदेशक राजेश्वरी बी ने सभी जिलों व त्रिस्तरीय पंचायतों को यह निर्देश दिया है कि अगले तीन माह में शत-प्रतिशत राशि खर्च करना सुनिश्चित करें. बता दें कि, 2313 करोड़ रुपये दो वित्त वर्ष 2020-21 व 2021-22 को मिलाकर दी गयी थी,लेकिन 2020-21 में कोरोना के चलते लगे लॉकडाउन के समय काफी कम राशि खर्च हो पायी थी. कम राशि खर्च होने पर पंचायती राज विभाग ने कड़ी मॉनटरिंग प्रारंभ की. मुख्यमंत्री ने भी जिम्मेवारी तय करने का आदेश दिया था.

जिला आवंटन खर्च खर्च का प्रतिशत
पाकुड़ 71.750 57.075 80
जामताड़ा 62.338 47.819 77
साहेबगंज 85.191 64.749 76
चतरा 87.352 64.977 74
देवघर 103.054 76.254 74
पलामू 143.137 102.121 71
गढ़वा 107.277 76.36 71
गिरिडीह 189.247 131.143 70
गोड्डा 103.023 68.778 67
लातेहार 65.322 43.827 67
सिमडेगा 54.765 36.478 67
पूर्वी सिंहभूम 117.262 75.642 65
कोडरमा 49.822 32.291 65
बोकारो 121.735 77.787 64
लोहरदगा 35.891 22.474 63
दुमका 108.603 67.419 62
गुमला 92.098 57.182 62
सरायकेला 73.124 45.121 62
खूंटी 46.323 28.9 62
हजारीबाग 132.101 81.179 61
रामगढ़ 60.865 36.271 60
पश्चिम सिंहभूम 127.067 73.683 58
रांची 155.993 86.212 55
धनबाद 120.100 58.538 47
कुल 2313.500 1510.710 65

2020-21 में झारखंड को 1689 करोड़ रुपये दिए गये थे,जिसके विरूद्ध 313 करोड़ रुपये वहीं 2021-22 में 624 करोड़ रुपये आवंटित हुए थे. विभाग के निगरानी के बाद इस वित्त वर्ष में करीब 1197 करोड़ खर्च किए गये,जिसमें पिछले वित्त वर्ष का भी पैसा है. इस राशि से पंचायतों में विकास की योजनाएं ली गयी. सोलर लाइट अधिष्ठापन, सामुदायिक भवन, पंचायत भवन, शोचालय निर्माण सहित अन्य कार्य कराये गये हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close