राजनैतिक

पूर्व MLC कृष्ण कुमार सिंह को राजद में लेकर तेजस्वी ने नीतीश को कितना बड़ा झटका दिया?

पटना. जनता दल यूनाइटेड और राष्ट्रीय जनता दल के बीच एक दूसरे को झटका देने का सिलसिला जारी है. इसी क्रम में इस बार बारी लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद की थी. इस बार राजद ने शाहाबाद क्षेत्र के कद्दावर नेता को अपनी पार्टी में मिलाकर सीएम नीतीश कुमार को जोरदार झटका दे दिया है. पटना के वीरचंद पटेल मार्ग स्थित राजद पार्टी कार्यालय में मिलन समारोह का आयोजन किया गया था. इस मिलन कार्यक्रम में पूर्व MLC कृष्ण कुमार सिंह अपने समर्थकों के साथ जेडीयू से त्याग पत्र देकर राजद में शामिल हो गए. इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि शाहाबाद क्षेत्र में राजद अब और भी मजबूत होगा.

राष्‍ट्रीय जनता दल के प्रदेश कार्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान मंगलवार को बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और वैशाली जिले के राघोपुर से राजद के विधायक तेजस्वी यादव और राजद के बिहार प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह सहित कई नेताओं ने जदयू के पूर्व एलएलसी कृष्ण प्रसाद सिंह को राजद की सदस्यता दिलाई. इस अवसर पर राजद के कई अन्य नेता भी मौजूद थे. इस दलबदल को राजद की ओर से जदयू को बहुत बड़ा झटका बताया जा रहा है. पर इसकी सच्चाई क्या है?

कृष्ण कुमार सिंह ने क्यों बदला पाला?
बता दें कि कृष्ण कुमार सिंह 2015 के विधानसभा चुनाव में सासाराम सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव भी लड़ चुके हैं. हालांकि उन्हें जीत हासिल नहीं हो पाई थी. इससे पहले 2003 और 2009 में हुए एमएलसी चुनाव में भी उन्होंने जीत दर्ज की थी. सियासत के जानकार बताते हैं कि इस बार भी चूंकि एमएलसी का चुनाव होना है तो उन्हें जदयू से टिकट की उम्मीद शायद नहीं थी. यही वजह है कि उन्होंने पाला बदला है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close