उत्तर प्रदेशउत्तरप्रदेशचुनावी रैलीराजनैतिक

यूपी मे निशाना कही और ठिकाना कही और …

नई दिल्ली : यूपी मे इस दिनों सियासी मिजाज ठीक नहीं चल रहा है । बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद  बीजेपी मे कुछ मायूसी दिखाई दे रही है .अब पूरे देश की निगाहें देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश पर टिक गई है. उत्तर प्रदेश में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होना है. राज्य  मे अब चुनावी मोड़ पर  दिखाई दे रह है . चुनाव से ठीक पहले होने वाली सियासी उठापटक भी जारी है . खासकर सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा में सियासी घमासान स है. हालांकि सत्ता के विरोधी दल थोड़ी बहुत सुगबुहाट है जितना  योगी सरकार और पार्टी संगठन को लेकर अटकलों का बाजार में ।

चुनाव से ठीक पहले सरकार और संगठन में बेचैनी साफ नजर आ रही है. सोशल मीडिया से लेकर राजनीति गलियारों में भाजपा के बड़े नेताओं में छिड़े द्वंद को लेकर जमीनी स्तर का कार्यकर्ता नाराज दिखाई दे रहा है. चर्चाएं तो  यूपी मे मुख्यमंत्री केए चेहरा बदलने का है. बात दरअसल यह है की इसके पहले योगी जी के जन्मदिन का बीजेपी के शीर्ष नेताओ का ट्वीट की बाढ़ लगी रहती थी । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह समेत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें सार्वजनिक सोशल मीडिया के मंचों से बधाई नहीं दी है. ऐसे में कयास  है कि क्या योगी और मोदी में ही क्या अब ठन गई है. इन कयासों को और हवा अब और इसलिए मिल गई है । अंदर की बात यह है की योगी जी आरएसएस से हट कर एक नई संस्था हिन्दू के नाम से चल रहे है । जिस कारण संघ ,बीजेपी के आला कमान नाराज है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close