देशनई दिल्ली

सीबीआई के अगले निर्देशक का फैसला टली , सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने याद दिलाया 6 महीने का नियम।

CBI का नया प्रमुख चुनने पर आज फैसला हो सकता है। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी चीफ वाईसी मोदी भी 31 मई को रिटायर होने वाले हैं। सीबीआई के अगले निदेशक के लिए तीन नामों कुमार राजेश चंद्रा, सुबोध कुमार जायसवाल, वीएसके कौमुदी पर चर्चा हुई है, जो आज टल गई।

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई मीटिंग में चीफ जस्टिस एनवी रमाना के अलावा सदन में नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी भी शामिल थे। सूत्रों के मुताबिक मीटिंग में जस्टिस रमाना ने ‘6 महीने के नियम’ की याद दिलाई। रिपोर्ट्स के मुताबिक मीटिंग में यूपी के डीजीपी एचसी अवस्थी का भी नाम शामिल है।

सूत्रों के मुताबिक रमाना ने मीटिंग में कहा कि पैनल को नियम के आधार पर ही किसी नाम पर विचार करना चाहिए। चीफ जस्टिस की राय का नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने भी समर्थन किया है। मीटिंग में बीएसएफ के चीफ राकेश अस्थाना का नाम इस नियम के आधार पर खारिज कर दिया गया, जो 31 अगस्त को रिटायर होने वाले हैं। इसके अलावा  इन दोनों ही नामों को सीबीआई की टॉप पोस्ट की रेस में माना जा रहा था। ऐसे में सीआईएसएफ के चीफ सुबोध कुमार जायसवाल के नाम पर सहमति बनती दिख रही है, जो सभी नामों में से सीनियर हैं। पीएम नरेंद्र मोदी की मीटिंग 4 महीने के बाद हुई है। नेता विपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सरकार ने नामों के चयन में नियमों का सही ढंग से पालन नहीं किया है

इस बैठक में सीबीआई डायरेक्टर के लिए 3 नामों पर विचार किया गया. इनमें सुबोध जायसवाल, के आर चंद्रा और वीकेएस कौमुदी के नाम शामिल हैं. इस बैठक में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चीफ जस्टिस एनवी रमणा, और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रजंन चौधरी मौजूद थे.

बता दें कि सुबोध जायसवाल 1985 बैच के आईपीएस ऑफिसर हैं और इस वक्त डीजी सीआईएसएफ हैं. वहीं के आर चंद्रा सशस्त्र सीमा बल के मौजूदा निदेशक हैं. वहीं वीकेएस कौमुदी गृह मंत्रालय में आतंरिक सुरक्षा विभाग में विशेष सचिव हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close