jhakhand

अज्ञात बीमारी से 500 बकरियों की मौत, एक महीने से फैल रही बीमारी

झारखंड: जमशेदपुर मुख्‍यालय के पूर्वी सिंहभूम जिले के घोड़ाबांधा गांव में 500 से अधिक बकरियों की मौत हो चुकी है।सैकड़ों बकरियां अब भी बीमारी से ग्रसित हैं। ग्रामीणों ने कुछ बीमार बकरियों या खस्सी को 200 रुपये की दर से व्यापारियों को बेच दिया है। एक माह से यह बीमारी फैली हुई है।

ग्रमीणों ने बताया कि गांव में करीब 95 परिवार हैं एवं लगभग सभी घरों में लोग बकरियां पालते हैं।
उनके घर में सबसे अधिक 60 बकरियां थीं। एक माह के दौरान बकरियों के शरीर एवं मुंह में बने घाव से अबतक 45 बकरियों की मौत हो चुकी है और बाकी बचीं 15 बकरियों में भी बीमारी के लक्षण दिखने लगे हैं।
बीमारी का प्रकोप सबसे पहले ऊपरपाड़ा के झरिलाल महतो एवं चैतन महतो के घर में रखी बकरियों में शुरू हुआ। चैतन महतो ने बताया कि उनके घर में 10 बकरियां थीं, जिसमें 3 खस्सी थे। 5 बकरियों की मौत हो चुकी है, 2 खस्सी को 200 रुपये की दर से व्यापारी को बेच चुके हैं, जबकि वर्तमान में 3 बीमार हैं।

इससे मनुष्यों में भी बीमारी फैलने का खतरा उत्पन्न हो सकता है।झरिलाल महतो की 15 में से सिर्फ 2 बकरियां ही बची हैं। कुछ बीमार बकरियों को बेच दिया तो 8 की मौत हो चुकी है। सुरेंद्र महतो की 25 में से एक भी बकरी नहीं बची है। मकर सिंह की 6 बकरियां मर चुकी हैं। करूणा सिंह की 12 बकरियों में से 4 की मौत हुई और 8 बीमार हैं। भवतारण सिंह की 10 में से 2 के मरने के बाद अभी 8 बची हैं। ऊपरपाड़ा में शुरू होने के बाद इसका संक्रमण देखते ही देखते पूरे गांव में फैल गई और ग्रामीण पशुपालकों को लाखों रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ है।

ग्रामीणों ने बताया कि यहां घर के बगल से ही जंगल होने के कारण प्रत्येक परिवार के लोग कम से 8-10 बकरियां पालते हुए साल में अच्छी खासी आमदनी कर लेते थे। बताया जा रहा है चेचक से बकरियों की मौत हो रही है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close